भारतीय जीवन बीमा में अपनी DETAILS देना अब क्यों जरुरी है??

HOW TO UPDATE YOUR DETAILS IN LIC POLICIES…??? 

 

      बदलते समय के ह‍िसाब से अगर हम बात करें तो आज के समय में जहां सभी तरह की जानकारी को स्‍मार्टफोन पर प्राप्‍त किया जा रहा है तो ऐसे में भारत की सबसे बड़ी बीमा कंपनी, LIC  LIFE INSURANCE CORPORATION OF INDIA के साथ पंजीकृत आपका फोन नंबर MOBILE NUMBER और ईमेल EMAIL ID पता होना बेहद जरूरी है। खासकर तब जब आपका प्रीमियम PREMIUM  देय हो ताकि आपको संबंधित सूचनाएं आसानी से म‍िल सके। इतना ही नहीं प्रीम‍ियम अलर्ट पाने में मदद म‍िल सकता है। आपको बता दें कि यदि आप भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) के साथ किसी भी प्रकार की POLICY रखते हैं, तो आपके संपर्क विवरण उनके साथ अपडेट करने के तीन तरीके हैं।
1. ऑनलाइन पंजीकरण लिंक (online registration) इसके लिए आप सबसे पहले इस लिंक पर
www.licindia.in/Customer- Services/Help-Us-To-Serve-You-Better क्‍ल‍िक करें।
  1. इसके बाद आप अपना पूरा नाम और जन्म तिथि जैसे विवरण उस दस्तावेज़ के अनुसार भरें जिसे आप पहले से ही रखते हैं।  देख पायेंगे कि बॉक्स के दाईं ओर दिए गए टैब पर अपनी जन्मतिथि का चयन कर सकते हैं।
  2. उसके बाद दिए गए स्थान में मोबाइल नंबर और ईमेल पता भरें। वहीं उन नीतियों की संख्या चुनें, जिनके लिए आप संपर्क विवरण अपडेट (contact detail update)करना चाहते हैं। इस बात पर भी ध्‍यान देने कि आवश्‍यकता हैं कि एक बार में अधिकतम 10 नीतियों (policies)के लिए विवरण अपडेट(update details) कर सकते हैं।
  3. इसके बाद आप घोषणा पर जाँच(check the declaration) करें और सबमिट पर क्लिक करें।
  4. वहीं अगले लैंडिंग पृष्ठ में, प्रदान किए गए स्थान में नीति संख्या दर्ज करें और “नीति विवरण मान्य करें” (validate policy details)पर क्लिक करें।
  5. वेबसाइट यह देखने के लिए जांच करेगी कि पॉलिसी रिकॉर्ड (policy record)में नाम और जन्म तिथि (name or dob)आपके द्वारा दिए गए विवरण के साथ मेल खाती है या नहीं। विवरण को सफलतापूर्वक अपडेट करने पर एक पॉप-अप दिखाई देगा। पॉप-अप (pop-up) में एक अनुरोध संख्या शामिल है जिसे आप भविष्य में उपयोग के लिए नोट कर सकते हैं।
  6. इसके बाद आपको अपना नंबर और अपने पते पर एक ईमेल सत्यापित (verify)करने के लिए एलआईसी ग्राहक सेवा (lic customer care)से एक फोन कॉल प्राप्त होगा।
  7. वहीं सत्यापन के बाद (after verification)विवरण को नीति के लिए अद्यतन किया जाएगा।
  8. ठीक इसी तरह आप अपनी पुरानी पद्धति को अपडेट करने के लिए उसी विधि का उपयोग कर सकते हैं जिसे आप पहले उपयोग कर रहे हैं।
    2. कस्टमर केयर पर कॉल करें (call customer care) आप एलआईसी की हेल्पलाइन 022-68276827 पर कॉल कर सकते हैं। यह       24/7 सेवा है।
  9. 3. पत्र (letter) आप अपनी पॉलिसी की सर्विसिंग के लिए एलआईसी शाखा (LIC branch)को लिख सकते हैं और उनसे संपर्क विवरण             (contact details) बदलने या जोड़ने (change or add) का अनुरोध कर सकते हैं।
  10. LIC की एसएमएस हेल्पलाइन बिना पंजीकरण इतना ही नहीं LIC की एक एसएमएस (sms)सेवा है जहाँ आप 92224 92224 पर एसएमएस करके “LICHELP” भेजकर एक नीति संबंधी प्रश्न पूछ सकते हैं।

क्‍यों महत्वपूर्ण है अपनी एलआईसी पॉलिसी(lic policy) के साथ संपर्क विवरण दर्ज (contact details add) करना??

  1. इस बात से बखूबी अवगत करा दें कि एक बार जब आपका मोबाइल नंबर और ईमेल पता बीमा दिग्गज के साथ पंजीकृत हो जाता है, तो यह आपकी नीतियों से संबंधित सूचनाओं को भेज देगा।
  2. आपको प्रीमियम बकाया(premium dues), पॉलिसी लैप्स(policy lapse), उत्तरजीविता लाभ(survival benefits), परिपक्वता (maturity), पॉलिसी की स्थिति (policy status), पॉलिसी के चूक (lapse) /(revival of policy) पुनरुद्धार, पॉलिसी बांड (POLICY BOND) के प्रेषण पर विवरण, बोनस या वफादारी के अलावा (BONUS AND LOYALITY RATES), एनईएफटी(NEFT) या (NACH) एनएएक्स जनादेश, आदि के बारे में जानकारी प्राप्त होगी।
  3. बीमा कंपनी से ऐसे 65 संदेश प्राप्त करें। LIC 1 मार्च 2019 को डिजिटल होने जा रही है और यह उससे पहले महत्वपूर्ण है कि आप आने वाले परिवर्तनों के अनुरूप हों।

Written by 

Welcome to Invest India Online. Financial freedom means something different to every single one of our clients. For some, it means having enough money in retirement to build a second home and send the grandchildren to college.