आपके स्वर्णिम भविष्य का आधार कैसे बने ??

         क्या आप अपने भविष्य को अनिश्चित ही रखना चाहते हैं??

 

अपने भविष्य को संवारने के लिए हम कड़ी मेहनत तो करते हैं लेकिन महँगाई के इस दौर में अपने सभी सपने पूरे नहीं कर पाते। इसलिए अपनी जरूरतों को पूरा करने के लिए रिटायरमेंट (RETIREMENT) के बाद लोग पेंशन (PENSION) की सुविधा लेते हैं। इसके लिए हम फाइनेंशियल प्लानिंग (FINANCIAL PLANNING) भी करते हैं। 

          लेकिन एक जगह पर हम अकसर चूक जाते हैं और वो है SAVINGS। हम अपने भविष्य के लिए सोचते तो बहुत हैं लेकिन बचत (SAVINGS) नहीं कर पाते। बचत कर के भविष्य के लिए हम एक ऐसी पूंजी (CORPUS) तैयार कर सकते हैं, जिसकी मदद से हम रिटायरमेंट (RETIREMENT) के बाद अपने जीवन को बेहतर बना सकते हैं। अपना घर खरीदना, बच्चों की उच्च शिक्षा (HIGHER EDUCATION) और उनकी शादी हमारे लिए जितनी जरूरी है, उतनी ही जरूरी है बचत। इसके लिए हमें अच्छी फाइनेंशियल प्लानिंग करनी चाहिए। 

  आज हम आपको कुछ ऐसे उपाय बताने जा रहे हैं, जिनकी मदद से आप रिटायरमेंट के बाद भी सुखद जीवन व्यतीत कर सकेंगे। खुद के लिए रिटायरमेंट पूंजी तैयार करने के लिए नीचे लिखे टिप्स आपके बेहद काम आ सकते हैं। 

 

SAVINGS BANK ACCOUNT से ज्यादा ब्याज कैसे पायें??

 

 

फाइनेंशियल प्लानिंग (FINANCIAL PLANNING) करते समय इन बातों का रखें ध्यान

फाइनेंशियल प्लानिंग करते समय हमें कुछ बातों का खास ध्यान रखना चाहिए। हम भविष्य में होने वाले खर्चों (EXPENSES) की गणना तो करते हैं लेकिन उसमें महंगाई (INFLATION) को जोड़ना भूल जाते हैं। इसकी वजह से आपका बजट (BUDGET) भी बिगड़ जाता है। जिन खर्चों का अनुमान हम वर्तमान में लगाते हैं, भविष्य में वही हमें महंगी मिलती है। इसलिए फाइनेंशियल प्लानिंग के समय महंगाई को जोड़ना अत्यंत आवश्यक है। उदाहरण के लिए अगर आपका मासिक खर्च 50,000 रुपये प्रति माह है और अगर वार्षिक दर से महंगाई लगातार छह फीसदी बढ़ रही है, तो इसका मतलब होगा कि आपको 20 साल बाद हर महीने 1.6 लाख रुपये खर्च करने होंगे। ऐसे में आपको ऐसी योजना तैयार करनी होगी जिससे आप मोटा पैसा जुटा सकें। 

 

जानिए आपके बच्चों के लिए क्या है सर्वश्रेष्ठ 

 

 

इमरजेंसी फंड (EMERGENCY FUND) का करें इंतजाम

इसके अतिरिक्त आपको यह भी ध्यान रखना चाहिए कि किसी इमरजेंसी में खर्च के लिए आपके पास अतिरिक्त राशि की व्यवस्था भी रहे। इमरजेंसी अगर सेहत को लेकर हो, तो आपको और भी ज्यादा ध्यान देना होगा। भविष्य में अगर किसी कारण आपकी सेहत बहुत बिगड़ जाती है, तो इसके लिए आपके पास फंड का होना बेहद आवश्यक है।  

          रिटायरमेंट के लिए आपके पास इतना धन होना चाहिए जो आपकी दैनिक घरेलू जरूरतों के साथ बुढ़ापे में होने वाली बीमारियों के इलाज का खर्च भी उठा सके। इसके लिए आपको पहले से ही निवेश शुरू करना होगा और रिटायरमेंट का इंतजार नहीं करना चाहिए। रिटायरमेंट के समय इतनी बड़ी राशि एकत्रित करना आसान नहीं है। वर्तमान में आप जो भी निर्णय लेंगे, उससे आपकी संपूर्ण जीवनशैली प्रभावित होगी। 

करोड़पति बनिये
Young businessman throughs around dollars and dances on the street

करोड़पति कैसे बनें??

 

 

सैलरी (SALARY) का 80 फीसदी ही करें खर्च

  फाइनेंशियल प्लानर्स की मानें तो किसी भी व्यक्ति को अपनी सैलरी का 80 फीसदी ही खर्च करना चाहिए। फेस्टिव सीजन के दौरान अगर किसी ने ज्यादा शॉपिंग (SHOPPING) की है और घर का बजट गड़बड़ा गया है तो घबराने की बात नहीं हैं। जो पैसा आपने सेविंग (savings) के लिए जमा किया हुआ है, उसको आप एक लिमिट में निकालकर अपने खर्च को बिगड़ने से बचा सकते हैं। रिटायरमेंट के बाद के लिए आपको ज्यादा से ज्यादा पैसे जोड़ने चाहिए। 

SIP MYTH BUSTED

भविष्य कैसे सुनिश्चित करें???

 

 

म्यूचुअल फंड (MUTUAL FUND)

पीपीएफ (PPF) और फिक्स डिपॉजिट (FIXED DEPOSIT) और इनके फायदों के बारे में तो सबको पता है। मौजूदा समय में इनकी ब्याज दरें (INTEREST RATES) लगातार घटती जा रही हैं। ऐसे में हम आपको निवेश (INVESTMENT) के एक और विकल्प के बारे में बताने जा रहे हैं, जो आपके लिए बेहद महत्वपूर्ण साबित हो सकता है। हम बात कर रहे हैं म्यूचुअल फंड (MUTUAL FUNDS) की। आज म्यूचुअल फंड्स ने ऐसे कई रास्ते खोले हैं जिससे हम वो हर सपने पूरा कर सकते हैं जिन्हें हमने हमेशा से ही पूरा करना चाहा था। इन्हीं रास्तों में से एक है एसआईपी (SIP – SYSTEMATIC INVESTMENT PLAN)

          अपने सपनों को पूरा करने का सबसे आसान तरीका है दीर्घकालीन और नियमित निवेश। म्यूचुअल फंड्स द्वारा प्रस्तावित SIP या सिस्टमेटिक इन्वेस्टमेंट प्लान नियमित रूप से निवेश करने का एक सुलभ और भरोसेमंद तरीका है, जिसके तहत आप 500 रुपये प्रतिमाह से भी निवेश कर सकते हैं। मतलब अपने मासिक खर्च पर बिना किसी अतिरिक्त बोझ के अपने सपनों को पूरा कर सकते है। निवेश की राशि भले ही छोटी हो पर SIP लंबे समय में धीरे-धीरे धन संचयित करने की आसान व्यवस्था है। 

म्यूचुअल फंड्स SIP निवेश से आप चक्रवृद्धिता  (COMPOUNDING RETURNS) का भी लाभ उठा सकते हैं, अर्थात पहले महीने का आपका मुनाफा आपके अगले महीने के मूलधन में जुड़ जाता है जिससे आपका निवेश बढ़ता जाता है और आपका फायदा भी। जितने ज्यादा समय तक आप SIP में निवेश करेंगे, उतना ही ज्यादा फायदा आपको मिल सकता है। इसलिए लंबे समय तक SIP के जरिये निवेश करने से आपको धन संचय करने में मदद मिलती है। 

          एसआईपी शुरू करने के लिए सही समय का इंतजार नहीं करना होता, जितना जल्दी शुरू करेंगे तो उतना फायदा होने की संभावना होती है। जितने बड़े सपने उतनी अवधि का निवेश। तो बस सपने देखते रहिए और निवेश करते रहिए। यह आपके निवेश पर अधिक रिटर्न प्रदान कर सकते हैं। यहीं कारण हैं जिनकी वजह से म्यूचुअल फंड रिटायरमेंट प्लानिंग के लिए एक अच्छा विकल्प माना जाता है।

 

Written by 

Welcome to Invest India Online. Financial freedom means something different to every single one of our clients. For some, it means having enough money in retirement to build a second home and send the grandchildren to college.