Investment behaviour

धीरज का फल  Patience Always Pays

बन्दरों की एक टोली थी….
उनका एक सरदार भी था बन्दर फलों के बग़ीचों मे फल तोड़ कर खाया करते थे,
माली की मार और डन्डे भी,

एक दिन बन्दरों के सरदार ने सब बन्दरों से विचार विमर्श कर कर निश्चय किया कि रोज माली के डन्डे
खाने से बेहतर है हम अपना फलों का बग़ीचा लगा लें और खायें, कोई रोक टोक नहीं ।

और हमारे अच्छे दिन आ जायेंगे।

सभी बन्दरों को यह प्रस्ताव बहुत पसन्द आया जोर शोर से गड्ढे खोद कर फलों के बीज बो दिये गये।

पूरी रात बन्दरों ने बेसब्री से इन्तज़ार किया। सुबह देखा गया अभी तो फलो के पौधे भी नहीं आये !

दो चार दिन बन्दरों ने और इन्तज़ार किया, परन्तु पौधे नहीं आये ।

Restless बन्दरों ने मिट्टी हटाई,  देखा फलों के बीज जैसे के तैसे मिले ।

बन्दरों ने कहा – लोग झूठ बोलते हैं। हमारे कभी अच्छे दिन नही आने वाले। हमारी क़िस्मत मैं तो माली के डन्डे ही लिखे हैं।

बन्दरों ने सभी गड्ढे खोद कर फलों के बीज निकाल कर फेंक दिये। पुन: अपने भोजन के लिये माली की मार और डन्डे खाने लगे।

निवेशकों  – जरा सोचना कहीं हम बन्दरों वाली हरकत तो नहीं कर रहे।

इक्विटी EQUITY MUTUAL FUND में निवेश करने से कुछ ऐसा ही होता है। यहाँ पर निवेश INVESTMENT करने के बाद उसे थोड़ा वक़्त देना पड़ता है।

जैसे रातो रात बीज से पेड़ नहीं बनता, ठीक उसी तरह इक्विटी में निवेश से आप एकदम से करोड़पति नही बन सकते।

आपका अपना
Invest India Online

Written by 

Welcome to Invest India Online. Financial freedom means something different to every single one of our clients. For some, it means having enough money in retirement to build a second home and send the grandchildren to college.

Leave a Reply

Your email address will not be published.